July 22, 2024

अपनी मांगों को लेकर पांचवे दिन भी भूख हड़ताल पर बैठे हॉर्टिकल्चर कॉलेज के वैज्ञानिक

कुलपति के वादा खिलाफी के विरुद्ध पांचवे दिन यानी सोमवार को भी हॉर्टिकल्चर कॉलेज के वैज्ञानिक भूख हड़ताल पर बैठे रहे।वहीं वैज्ञानिक को भूख हड़ताल पर बैठे रहने से महाविद्यालय के शिक्षण कार्य भी बाधित हो गया है।वैज्ञानिक ई.मनीष कुमार ने बताया कि इस विश्व विद्यालय के वैज्ञानिकों को आज तक प्रोमोशन नहीं दिया गया है।शिक्षक संघ व कुलपति के बीच हुए तीन बार वार्ता भी असफ़ल रहा।कुलपति अपने वादे से मुकर गये।वहीं शिक्षक संघ व विश्वविद्यालय प्रसाशन के बीच सोमवार को संध्या में वार्ता होनी है।बीएयू के नालंदा उद्यान महाविद्यालय बिहार झारखंड के इकलौता महाविद्यालय है।फिर भी इस महाविद्यालय के स्थापना से आज तक किसी भी शिक्षकों को एमएससी व पीएचडी के एक भी विद्यार्थी एलॉट नहीं किया गया है।जो सरासर इस महाविद्यालय के शिक्षकों के साथ ना इंसाफी है।

तेरह वर्षों से किसी शिक्षक को प्रोमोशन नहीं दिया गया है।जब तक मांगे पूरी नहीं होगी भूख हड़ताल जारी रहेगा।उन्होंने बताया कि बीएयू सबौर में प्रगतिशील शिक्षक संघ के अध्यक्ष सचिव सहित पांच वैज्ञानिक आज से कम्पलीट भूख हड़ताल पर बैठ गये है।वहीं इस महाविद्यालय में रिले भूख हड़ताल पर आज डॉ. मणिकांत प्रभाकर बैठे हैं।प्रगतिशील शिक्षक संघ के निर्देश होने पर इस महाविद्यालय में भी सामूहिक रूप से वैज्ञानिक भूख हड़ताल पर बैठेगें।इस मौके पर डॉ. पी डी माने, डॉ. एस के चौधरी,डॉ. मणिकांत प्रभाकर,डॉ. ए पी सिंह,डॉ. शशिबाला,डॉ. सीमा,डॉ. संजय सिंह,संजीव कुमार,डॉ. एम पाल सहित अन्य मौजूद थे|