July 14, 2024

#nawada : सात साइबर अपराधी चढ़े पुलिस के हत्थे 11 मोबाइल,1 सीम, आधार कार्ड, अन्य कई दस्तावेज बरामद..जानिए

सात साइबर अपराधी चढ़े पुलिस के हत्थे 11 मोबाइल,1 सीम, आधार कार्ड, अन्य कई दस्तावेज बरामद….

 

 

 

 

 

 

ख़बरें टी वी : 9334598481 : ठगों की नगरी जामताड़ा बनने के कगार पर नवादा को साइबर अपराधियों से मुक्ति दिलाने के लिए अब डीएम-एसपी ने कमान सम्भालते हुए सर्जिकल स्ट्राइक शुरू कर दिया है। इसको लेकर डीएसपी मुख्यालय सह साइबर थानाध्यक्ष कल्याण आनन्द के नेतृत्व में एसआईटी का गठन कर सघन छापेमारी अभियान चलाया जा रहा है। इसी कड़ी में साइबर अपराधियों का हब बन चुका जिले के वारिसलीगंज थाना क्षेत्र के मकनपुर गांव स्थित सरकारी नौवा बागी में सघन छापेमारी कर 7 साइबर अपराधियों को गिरफ्तार किया गया। जिसके पास से ठगी में इस्तेमाल किये जाने वाले 11 मोबाइल, एक सीम, 11 पेज का कस्टमर डेटा, आधार कार्ड, पैन कार्ड तथा लोन अप्रुवल लेटर के साथ कई अन्य उपकरणों को बरामद किया गया। इस कार्रवाई को लेकर रविवार को साइबर थाना परिसर में साइबर थानाध्यक्ष डीएसपी मुख्यालय कल्याण आनन्द ने प्रेसवार्ता कर मीडिया कर्मियों को बताया कि नवादा एसपी अम्बरीष राहुल के दिशा-निर्देष पर साइबर अपराधियों पर कार्रवाई को लेकर एसआईटी का गठन किया गया है। जिसके बाद शनिवार को वारिसलीगंज थाना क्षेत्र के मकनपुर गांव में छापेमारी कर 7 साइबर अपराधियों को गिरफ्तार किया गया है। उन्होंने बताया कि गिरफ्तार साइबर अपराधियों के पास से 11 मोबाइल, एक सीम, 11 पेज का कस्टमर डेटा, आधार कार्ड, पैन कार्ड तथा लोन अप्रुवल लेटर के साथ कई अन्य उपकरणों को बरामद किया गया। उन्होंने कहा कि सरकार जिस उद्देष्य से साइबर थाना का स्थापना किया है, उसको लेकर जिले में साइबर अपराधियों को जड़-मूल समाप्त करने के लिए नवादा पुलिस कटिबद्ध है।

 

बैंकों से लोन दिलाने के नाम पर किया जा रहा था ठगी…

 

 

साइबर डीएसपी ने बताया कि गिरफ्तार सभी साइबर अपराधियों के द्वारा रिलायंस फाइनेंस के नाम पर लोन दिलाने के नाम पर प्रोसेसिंग चार्ज के नाम पर एक हजार से दस हजार रूपये तक वसूल कर राज्य ही नहीं बल्कि, देश के अन्य राज्यों के लोगों को अपना शिकार बनाता था। साइबर डीएसपी ने बताया कि इसको लेकर साइबर थाना में कांड संख्या- 65/23 दर्ज कर गिरफ्तार कुल 7 साइबर अपराधियों को अभियुक्त बनाया गया है। उन्होंने बताया कि साइबर अपराधियों के खिलाफ कार्रवाई को लेकर गठित एसआईटी में इंस्पेक्टर सुजय विद्यार्थी, इंस्पेक्टर दरबारी चौधरी, स्वाट टीम के अलावा सिपाही सुशील कुमार रोहित कुमार, जितेन्द्र कुमार तथा सिपाही शितल कुमार शामिल थे।

 

 

 गिरफ्तार साइबर अपराधियों की सूची

 

 

छापेमारी के दौरान गिरफ्तार अपराधियों में जिले के वारिसलीगंज थाना क्षेत्र के मकनपुर गांव निवासी मंटुन कुमार के 29 वर्षीय पुत्र गोपाल कुमार, उदय सिंह के 30 वर्षीय पुत्र मनिष सिंह, अजय राम के 20 वर्षीय पुत्र प्रिंस कुमार उर्फ सुरज कुमार, रंजीत राम के 18 वर्षीय पुत्र राकेश कुमार, अशोक सिंह के 30 वर्षीय पुत्र शिशुपाल कुमार तथा इसी थाना क्षेत्र के सिमरी डीह ग्रामीण मुकेश कुमार के 20 वर्षीय पुत्र मोहित कुमार के अलावा गया जिला अन्तर्गत टनकुपा थाना क्षेत्र के पुनौल गांव निवासी पंकज कुमार के 18 वर्षीय पुत्र रजनीश कुमार शामिल है। लगातार साइबर अपराधियों की गिरफ्तारी को लेकर छापेमारी अभियान जारी रहने से साइबर अपराधियों में हड़कम्प मचा हुआ है।

 

 

कौन है विक्की सिंह जो साइबर अपराधियों का है कंपनी कमांडर…

 

 

साइबर थानाध्यक्ष ने कहा कि मकनपुर गांव का ही इस साइबर अपराधी गिरोह का कंपनी कमांडर है, जिनके द्वारा पैसे के लालच देकर 18 से 30 वर्ष आयु के युवकों को गिरोह में शामिल कराकर साइबर अपराध का धंधा कराया जा रहा था। उन्होंने अन्य साइबर अपराधियों के नाम को गुप्त रखते हुए कहा कि गिरफ्तार साइबर अपराधियों के अलावा गिरोह के कंपनी कमांडर विक्की सिंह सहित कुल दो दर्जन लोगों को अभियुक्त बनाया गया है, जिसकी गिरफ्तारी के लिए पुलिस छापेमारी कर रही है।

 

 

 

रिपोर्ट : अभय कुमार रंजन