July 14, 2024

#nawada: अप्रवासी भारतीयों (NRI)ने उमवि बल्लोपुर विद्यालय के बच्चों के लिए उपलब्ध कराया जूता-मौजा… जानिए

 

 

 

 

 

 

 

अप्रवासी भारतीयों ने उमवि बल्लोपुर विद्यालय के बच्चों के लिए उपलब्ध कराया जूता-मौजा…

शिक्षक श्रीकांत की हो रही क्षेत्र में पूरी सराहना….

 

 

 

 

 

 

 

 

 

ख़बरें टी वी : 9334598481 : वारिसलीगंज (नवादा) : अप्रवासी भारतीयों ने उमवि बल्लोपुर विद्यालय के बच्चों की बहिर्मुखी प्रतिभा देख उनकी भूरी भूरी सराहना की। उन्होंने उनका हौसला बढ़ाने के लिए जूते – मौजे उपलब्ध कराए। विद्यालय के प्रधानाध्यापक श्री कौन्तेय कुमार ने बताया कि शिक्षक श्रीकांत कुमार ने अप्रवासी भारतीय से विद्यालय के वर्ग छह से वर्ग आठ के बच्चों के लिए 100 जोड़ी जूते उपलब्ध कराया, जिसे शनिवार को प्रखंड प्रोग्राम मैनेजर श्री अविनाश कुमार एवम प्रधानाध्यापक श्री कौन्तेय द्वारा बच्चों के बीच वितरित किया गया।

 

 

उत्तक्रमित मध्य विद्यालय बल्लोपुर हिंदी में शिक्षक श्रीकांत के अभिनव शिक्षण पद्धति और बच्चों की प्रतिभा से प्रभावित होकर बच्चों को प्रोत्साहन के लिए अमेरिका और इंग्लैंड के अप्रवासी भारतीयों ने आशीर्वचन स्वरूप बच्चों को उपरोक्त सामग्री उपलब्ध कराया। बताते चलें कि श्रीकांत सामाजिक सहयोग से विद्यालय में दर्जनों काम कर चुके हैं। समाज का सहयोग लेकर वे विद्यालय का रंग रोगन , लाईब्रेरी में किताबें, बच्चों के लिए एटलस, आर्ट गैलरी के लिए सामग्री , ग्रीन बोर्ड, गोदरेज, विद्यालय एवं सभी वर्ग कक्षों में डस्टबिन, किशोरी कक्ष में साल भर के लिए आवश्यक सामग्री, गिलास , थाली आदि उपलब्ध कराते रहे हैं।

 

 

ज्ञात रहे कि विद्यालय में शिक्षक श्रीकांत के कार्यों एवम उनके समर्पण तथा बच्चों की प्रतिभा देख डीएम, डीडीसी ने भी इसकी सराहना की । डीडीसी ने बच्चों के सर्वांगिक विकास हेतु संसाधन उपलब्ध कराने के लिए विद्यालय को 15 लाख दिया है जिससे स्मार्ट कक्ष , लाईब्रेरी के लिए किताबें, पेयजल के लिए बोरिंग , सोलर प्लेट, विद्यालय में हार्वेस्टिंग सिस्टम , मेडीटेशन के लिए साउंड सिस्टम आदि लगाए जाने हैं। इससे पहले पीएमओ ने भी पर्यावरण के लिए उच्च स्तर पर जागरूक विद्यालय के बच्चों द्वारा किए जा रहे कार्यों की सराहना करते हुए उस संबंध में जिला पदाधिकारी से विस्तृत रिपोर्ट मांगी थी ..

 

 

जिसमें बच्चे प्लास्टिक के फेंके हुए रैपर से कलाकृति करते हैं और पर्यावरण को प्रदूषण से बचाने का बेहतरीन तरीके से समाज को अवगत कराया है। सही मायने में कहा जाए तो उत्तक्रमित मध्य विद्यालय बल्लोपुर हिंदी अपने तरह का एक मॉडल विद्यालय है। इस संबंध में शिक्षक श्रीकांत ने बताया कि आकांक्षी जिला अंतर्गत वारिसलीगंज प्रखंड में यह विद्यालय मॉडल विद्यालय चयनित है जो अभी प्रक्रियाधीन है। मॉडल विद्यालय का कार्य आरंभ हो जाने पर विद्यालय के बच्चों की प्रतिभा में और भी गुनोत्तर वृद्धि होगी।

 

 

शिक्षक श्रीकांत ने विदेश में रह रहे भारतीयों के प्रति आभार प्रकट करते हुए कहा कि सुदूर , ग्रामीण गरीब बच्चों को इस तरह के प्रोत्साहन की जरूरत है जिससे वे भी देश की प्रगति में आगे चलकर योगदान दे सकने को सक्षम हो पाएंगे बहरहाल ! पदाधिकारियों के साथ साथ अब अप्रवासी भारतीयों ने भी इस विद्यालय की सुध ली है तो भरोसा हो चला है कि यह विद्यालय पूरे राज्य में एक आदर्श के रूप में स्थापित होगा मौके पर सहायक शिक्षक करण कुमार, मोहम्मद रागिब समेत विद्यालय के सभी बच्चे मौजूद थे।

 

 

 

 

 

रिपोर्ट : अभय कुमार रंजन