July 15, 2024

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा है कि शराब माफिया बख्शे नहीं जाएंगे

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा है कि शराब माफिया बख्शे नहीं जाएंगे। माफियों को धर-दबोचने के लिए निरंतर अभियान चलेगा। सरकारी तंत्र में रहकर गड़बड़ करने वाले भी बचेंगे नहीं। मुख्यमंत्री ने शराबबंदी को लेकर शनिवार को एक अणे मार्ग में उच्च स्तरीय समीक्षा बैठक की और अफसरों से साफ कहा कि असल धंधेबाज पकड़े जाएंगे, तभी शराब के अवैध कारोबार पर पूर्ण पाबंदी लगेगी। शराबबंदी को पूरी कड़ाई से लागू करने के लिए उन्होंने कई निर्देश दिए। 

उन्होंने कहा कि बिहार में जो लोग शराब के अवैध कारोबार में पकड़े जा रहे हैं, वे पहले किस धंधे में लगे थे। या शराबबंदी से पहले जो शराब के कारोबार में लगे थे, वे अब शराबबंदी के बाद कौन सा व्यवसाय कर रहे हैं। इस पर पूरी नजर बनाये रखें। इसमें जिनलोगों की गिरफ्तारियां हुई हैं, उनके विरुद्ध सख्त से सख्त कार्रवाई करें। नीचे से ऊपर तक के सरकारी तंत्र में गड़बड़ करने वालों पर निगाह रखें। अगर पदाधिकारी पूरी प्रतिबद्धता से मन बना कर काम करेंगे तो कोई भी बच नहीं पाएगा। 

शराबबंदी से समाज को काफी फायदा हो रहा
मुख्यमंत्री ने कहा कि शराबबंदी बहुत बड़ा सामाजिक सुधार का कार्य है। इससे समाज को काफी फायदा हो रहा है। गड़बड़ मानसिकता के चंद लोग हैं, जो इस धंधे में अभी भी लगे हैं। सर्वोच्च न्यायालय ने भी अपने आदेश में कहा है कि शराब पीना और इसका व्यवसाय करना मौलिक अधिकार नहीं है। पूरे देश में बच्चे एवं महिलाओं में शराब पीने के खिलाफ असंतोष है। उन्होंने कहा कि अन्य राज्यों से आने वाले शराब के वाहन तो पकड़े ही जा रहे हैं, उसके वास्तविक कारोबारी को पकड़ने के लिये सीमावर्ती राज्यों के पदाधिकारियों से भी सहयोग लेते रहें। सिर्फ वाहन चालक और खलासी को गिरफ्तार करने से काम नहीं चलेगा।

Other Important News