July 14, 2024

खबरें टीवी – जिला पदाधिकारी की अध्यक्षता में जल जीवन हरियाली अभियान को लेकर बैठक


जिला पदाधिकारी योगेंद्र सिंह की अध्यक्षता में आज हरदेव भवन सभागार में जल जीवन हरियाली अभियान के क्रियान्वयन को लेकर बैठक आहूत की गई।
जिला में सभी अतिक्रमण किए गए जल स्रोतों (वाटर बॉडीज) को 5 दिसंबर तक चिन्हित करने का निर्देश सभी अंचलाधिकारियों को दिया गया।
15 दिसंबर तक सभी जल स्रोतों को अतिक्रमण से मुक्त करने का निर्देश दिया गया। सभी अनुमंडल पदाधिकारी , अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी एवं थाना प्रभारी को सभी जल स्रोतों से अतिक्रमण हटाने के लिए त्वरित कार्रवाई सुनिश्चित करने का निर्देश दिया गया। इस कार्य में शिथिलता बरतने वाले अंचल अधिकारियों के विरुद्ध कठोर कार्रवाई की जाएगी।
जिला के विभिन्न अंचलों में प्रतिनियुक्त किए गए परिक्ष्यमान राजस्व पदाधिकारियों को जल स्रोतों से अतिक्रमण हटाने को लेकर की गई कार्रवाई की प्रतिदिन की प्रगति का रिपोर्ट समर्पित करने का निर्देश दिया गया। सभी अनुमंडल पदाधिकारी एवं भूमि सुधार उप समाहर्ता को प्रतिदिन के प्रगति की समीक्षा सुनिश्चित करने को कहा गया।
बैठक में बताया गया कि राज्य सरकार द्वारा वर्ष 2020 में एक निर्धारित तिथि को 2 करोड़ 51 लाख पौधे पूरे राज्य में लगाए जाएंगे। इसके लिए सभी पदाधिकारियों को वृक्षारोपण के लिए स्थल का चयन कर वृक्षों की संख्या का आकलन सुनिश्चित करने का निर्देश दिया गया। प्रत्येक पंचायत में उपलब्ध सार्वजनिक /निजी जमीन के आधार पर वृक्षारोपण के लिए लक्ष्य का निर्धारण सुनिश्चित करने को कहा गया। सभी सड़कों, बांध, तटबंध, तालाब, आहर, पाइन आदि के किनारे लीनियर प्लांटेशन किया जाएगा। इसके लिए सभी संबंधित विभागों के पदाधिकारियों को उपलब्ध भूमि एवं लगाए जाने वाले वृक्षों की संख्या का आकलन कर सूची उपलब्ध कराने का निर्देश दिया गया। इस अभियान के तहत सभी सरकारी एवं गैर सरकारी संस्थागत परिसरों में उपलब्ध जमीन पर भी उपयुक्त संख्या में वृक्ष लगाए जाएंगे।
निर्धारित तिथि से पहले लक्ष्य के अनुरूप वृक्षारोपण के लिए निर्धारित संख्या में गड्ढे की खुदाई करने की व्यवस्था की जाएगी। निर्धारित तिथि को वृक्षारोपण के लिए प्रत्येक पौधे के लिए एक एक व्यक्ति /वालंटियर को चिन्हित करने का निर्देश दिया गया।