July 14, 2024

#bihar: वर्तमान समय में कोविशिल्ड के दुष्प्रभाव को लेकर सभी चिंतित है, कोविशील्ड के विषय में द फिजियो आर्ट के तथ्य… जानिए

CREATOR: gd-jpeg v1.0 (using IJG JPEG v62), quality = 90?

 

 

 

 

 

 

 

वर्तमान समय में कोविशिल्ड के दुष्प्रभाव को लेकर सभी चिंतित है, कोविशील्ड के विषय में द फिजियो आर्ट के तथ्य…

 

 

 

 

 

 

 

ख़बरें टी वी : पिछले 14 वर्षो से ख़बर में सर्वश्रेष्ठ..ख़बरें टी वी ” आप सब की आवाज ” …
आप या आपके आसपास की खबरों के लिए हमारे इस नंबर पर खबर को व्हाट्सएप पर शेयर करें…ई. शिव कुमार, “ई. राज” —9334598481..
आप का दिन मंगलमय हो….

….आप अपना चुनाव में बहुमूल्य वोट जरूर दे….

 

 

 

 

ख़बरें टी वी : 9334598481 : विगत कुछ वर्ष पूर्व देश में महामारी का कारण कोरोना वायरस से बचाव हेतु कोविशील्ड वैक्सिन की प्रक्रिया को पूरे देश की जनता ने स्वीकार किया था। वर्तमान समय में कोविशिल्ड के दुष्प्रभाव को लेकर सभी चिंतित है। कुछ लोगो में ब्रेन स्ट्रोक की समस्या सामने आई है । द फिजियो आर्ट के…को फाउंडर ऋतिक मिश्रा ने कहा की कोविशील्ड वैक्सीन प्राप्त करने वाले 10 लाख में से केवल सात से आठ व्यक्तियों को थ्रोम्बोसिस थ्रोम्बोसाइटोपेनिया सिंड्रोम (टीटीएस) नामक एक दुर्लभ दुष्प्रभाव का अनुभव होने का संभावना होती है।
टीटीएस की विशेषता रक्त के थक्के (थ्रोम्बोसिस) के साथ प्लेटलेट्स के निम्न स्तर (थ्रोम्बोसाइटोपेनिया) है, जो रक्त के थक्के जमने के लिए आवश्यक हैं। कोविशिल्ड के दुष्प्रभाव की चिंता न करे …केवल कुछ सावधानियां बरतने से हम अपने स्वस्थ को बेहतर रख सकते है।

 

 

जैसे हृदय को स्वस्थ बनाए रखे , डायबिटीज को नियंत्रित करे , ठंड से गर्म वातावरण अथवा गर्म से ठंडे स्थान में जाने पर कुछ समय का अंतराल आवश्यक है क्यों की अचानक तापमान का बदलाव शरीर की रक्त धमनियों में हो रहे रक्त के प्रवाह को प्रभावित कर सकती है । लिव द एक्चुअल लाइफ का संदेश देते हुए द फिजियो आर्ट की मुख्य समन्वयक निधि कुमारी ने कहा की अपने आहार में हरी सब्जियां, नट्स, सीड्स , सलाद को रोजाना शामिल करे और हानिकारक पदार्थ जैसे अल्कोहल, धूम्रपान, कैफिनयुक्त पदार्थों के सेवन से बचें। ज्वाइंट सेक्रेटरी महपारा ने सलाह दी की आज के जीवनशैली में अत्यधिक व्यस्तता के कारण लोग व्यायाम नहीं करते जो की सेहत पर बुरा असर डालती है रोजाना योग अथवा मेडिटेशन करने से हम अपने रक्तचाप के स्तर को नियंत्रित कर सकते हैं। एडमिनिस्ट्रेटर शमामा ने वर्तमान के हिट स्ट्रोक की सावधानी बरतने के साथ सात शरीर के वजन को सही रखने की सलाह दी। वहीं दूसरी तरफ ऑर्गनाइजिंग सेक्रेटरी दानिश आलम ने इम्युन सिस्टम को मजबूत करने , रेगुलर चेकअप और किसी प्रकार की समस्या होने पर नजदीकी अस्पताल जाने का सुझाव दिया।