July 23, 2024

#nalanda : द्वितीय अपीलीय प्राधिकार के रूप में जिलाधिकारी ने आज 31 मामलों की की सुनवाई…. जानिए

बिहार लोक शिकायत निवारण अधिकार अधिनियम के तहत द्वितीय अपीलीय प्राधिकार के रूप में जिलाधिकारी ने आज 31 मामलों की की सुनवाई…

 

 

 

 

 

 

ख़बरें टी वी : पिछले 13 वर्षो से ख़बर में सर्वश्रेष्ठ..ख़बरें टी वी ” आप सब की आवाज ” …
आप या आपके आसपास की खबरों के लिए हमारे इस नंबर पर खबर को व्हाट्सएप पर शेयर करें…ई. शिव कुमार, “ई. राज” —9334598481..
आप का दिन मंगलमय हो….

 

 

 

 

 

 

 

 

ख़बरें टी वी  : 9334598481 : लोक शिकायत निवारण अधिकार अधिनियम के तहत द्वितीय अपीलीय प्राधिकार के रूप में जिलाधिकारी श्री शशांक शुभंकर द्वारा आज 31 मामले की सुनवाई की गई।
इनमें से कुछ मामलों का निवारण सुनवाई से पूर्व ही संबंधित लोक प्राधिकार द्वारा किया गया तथा कुछ मामलों में निवारण हेतु संबंधित लोक प्राधिकार के पदाधिकारियों को आदेश दिया गया।
अतिक्रमण हटाने से संबंधित अलग अलग 6 मामलों में जिलाधिकारी ने सबंधित अंचलाधिकारियों को निर्धारित समय सीमा के अंतर्गत अनुपालन सुनिश्चित करने को कहा।
बेन प्रखंड की पिंकी देवी द्वारा प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत निर्मित आवास से संबंधित मनरेगा के तहत 90 दिनों की मजदूरी नहीं मिलने से संबंधित दायर परिवाद के संदर्भ में उप विकास आयुक्त को स्वयं मामले की जाँच कर कार्रवाई प्रतिवेदन के साथ अगली सुनवाई में रिपोर्ट करने को कहा गया।
राजगीर के कवींद्र कुमार द्वारा निजी ख़तियानी जमीन को गलत तथ्यों के आधार पर निबंधन किये जाने से संबंधित दायर परिवाद के संदर्भ में अंचलाधिकारी राजगीर को मामले की स्वयं जाँच कर रिपोर्ट प्रस्तुत करने का निदेश दिया गया।
बिहारशरीफ के एक परिवादी द्वारा प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत अपात्र व्यक्ति को लाभ दिये जाने से संबंधित दायर परिवाद के संदर्भ में उपविकास आयुक्त को स्वयं इस मामले की जाँच कर रिपोर्ट करने को कहा गया।
सिलाव के एक परिवादी द्वारा बगैर सर्वमान्य बँटवारा के की गई जमीन की बिक्री के आधार पर अंचल कार्यालय द्वारा किये गये दाखिल खारिज से संबंधित दायर परिवाद के संदर्भ में अपर समाहर्त्ता को मामले की जाँच कर रिपोर्ट प्रस्तुत करने का निदेश दिया।
इसलामपुर के एक परिवादी द्वारा विद्यालय प्रबंधन समिति के माध्यम से रात्रि प्रहरी की बहाली में अनियमितता से संबंधित दायर परिवाद के संदर्भ में जिला कार्यक्रम पदाधिकारी को मामले की जाँच करने का निदेश दिया गया।
कुछ अन्य मामलों में संबंधित लोक प्राधिकार के पदाधिकारियों को आवश्यक निदेश दिया गया।