July 22, 2024

बगदादी को क्या मिला जन्नत या जहनुम

 

खबरें टी वी व्यरो :- इस दुनिया को अमेरिका ने ISIS चीफ अबू बक्र अल बगदादी के आतंक से मुक्त कर दिया,अगर जानकारों की माने तो अमेरिकी सुरक्षाबलों के हाथों मारे जाने के डर से बगदादी ने खुद को ही बम से उड़ा दिया था ,अबू बक्र अल बगदादी को क्या मिला जन्नत या जहनुम – मरने के बाद नही मिल सका दो गज जमीन,आखिर कितनो को चैन की नींद सुलाने बाला आतंकी को मरने से पहले आ गई मौत का ख़ौफ़, आखिर मारने के बाद उसका अंतिम संस्कार भी कर दिया गया लेकिन कोई इस्लामिक तरीके से नही बल्कि,


कही जमीन में नही हो पाया दफन बगदादी , खास बात ये है कि बगदादी का अंतिम संस्कार किसी इस्लामिक मान्यता के अनुसार नहीं बल्कि अमेरिका के सशस्त्र संघर्ष कानून के हिसाब से समुद्र में दफनाया गया है, बताते चलें कि अमेरिका ने अल-कायदा चीफ ओसामा बिन लादेन को मारने के बाद भी उसके शव को समुद्र में दफनाया था। अमेरिकी ज्वाइंट चीफ्स ऑफ स्टाफ चीफ मार्क मिले ने कहा, ”अभियानगत कार्रवाई मानक और सशस्त्र संघर्ष कानून के अनुरूप उसका अंतिम संस्कार किया गया।, बगदादी की मौत के बाद अमेरिका अब उसके जीवन को लेकर कई चौंकाने वाले खुलासे कर रहा है। अमेरिका ने बताया कि बगदादी की पहचान कर उस तक पहुंचना काफी मुश्किल था, ऐसे में अमेरिका ने सीरिया के कुर्द लड़ाकों से संपर्क साधा था जो लड़ाकों ने ही बगदादी तक पहुंचने में अमेरिका की मदद की थी।

अब अंग्रेजी वेबसाइट Daily Mail की मानें तो अमेरिका ने बगदादी के घर मे रखे अंडरवियर और शव से लिए गए डीएनए सैंपल को मिलाने के बाद ही उसकी मौत की पुष्टि की, रिपोर्ट में कहा गया है कि कुर्द लड़ाकों ने आई एसआई एस में बगदादी के खास लोगों से अपनी अच्छी जान-पहचान बना रखी थी, इसी के जरिए एक कुर्द लड़ाके ने अमेरिका के कहने पर बगदादी के अंडरवियर चुरा लिए थे, अंडरवियर से लिए गए सैंपल 100 प्रतिशत सही पाए गए, इतना ही नहीं कुर्दों ने अमेरिका को बगदादी की सटीक लोकेशन के बारे में भी महत्वपूर्ण जानकारी दी थी। रिपोर्ट में कहा गया कि अमेरिका के मुखबिरों ने बताया कि दुनियाभर में आतंक मचाने वाला बगदादी उत्तर पश्चिमी सीरिया के इदलिब प्रांत के बारिशा गांव में है, जिसके बाद अमेरिकी सैनिकों ने वहां हमला बोल दिया था।

ISIS चीफ बगदादी को मारने के लिए अमेरिका ने एक खास प्लान बनाया और उसे सुरंग में घेर लिया था, वह सुरंग एक तरफ से बंद थी और वहां से निकलने का सिर्फ एक ही रास्ता था, जिसे पहले ही घेर लिया गया था, अमेरिकी सेना की स्वान स्क्वॉड ने सुरंग में बगदादी का पीछा किया जिसके बाद बगदादी को जब मालूम चला कि उसका बचना अब नामुमकिन है तो उसने खुद को बम से उड़ा लिया, उसके साथ-साथ 3 और आतंकी भी मारे गए थे, अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने बगदादी को ढूंढ निकालने में अमेरिका की मदद करने वाले कुर्द लड़ाकों को धन्यवाद कहा।